B.Ed की काउंसलिंग आज से फर्जीवाड़े पर छात्र जाएंगे जेल

वेबसाइट पर शिड्यूल किया गया अपलोड प्रत्येक दिन 3600 अभ्यर्थी होंगे शामिल

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

राज्य के विभिन्न कॉलेजों में बीएड कोर्स में नामांकन के लिए बुधवार से काउंसलिंग ज्ञान भवन, गांधी मैदान में प्रारंभ होगी। बीएडसीईटी की नोडल एजेंसी नालंदा खुला विश्वविद्यालय ने मंगलवार को वेबसाइट (http://www.biharcetbed.com/) पर काउंसलिंग का शिड्यूल जारी कर दिया है। 30 अप्रैल को काउंसलिंग की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

राज्य नोडल पदाधिकारी डॉ. एसपी सिन्हा ने बताया कि प्रत्येक दिन दो शिफ्ट में काउंसलिंग होगी। 30 अप्रैल को द्वितीय शिफ्ट में 1228 अभ्यर्थियों की काउंसलिंग होगी। इसके अतिरिक्ति सभी शिफ्ट में 1800 अभ्यर्थी शामिल होंगे। प्रथम चरण में कुल 35,428 अभ्यर्थी काउंसलिंग में शामिल होंगे। प्रथम शिफ्ट सुबह 10:30 से दोपहर 1:30 बजे तथा दूसरा शिफ्ट दोपहर 2:30 से शाम 6:00 बजे तक होगी। उन्होंने बताया कि किसी तरह की फर्जीवाड़ा करने पर अभ्यर्थी के ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। काउंसलिंग में क्या लेकर आना है। इसकी जानकारी वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। जिन क्वालीफाई अभ्यर्थियों ने काउंसलिंग शुल्क जमा नहीं किया है। वह इसमें भाग नहीं ले सकेंगे। जो काउंसलिंग शुल्क जमा किए हैं, लेकिन उन्हें कॉलेज आवंटित नहीं हो सकता है, वह भी प्रथम काउंसलिंग में शामिल नहीं होंगे।

शिक्षक कोटे के लाभ के लिए देना होगा प्रमाण पत्र : सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राज्य के विभिन्न सरकारी स्कूलों में तैनात 1467 अभ्यर्थियों को काउंसलिंग में एससीईआरटी द्वारा जारी प्रमाणपत्र सबमिट करना होगा। इसके अभाव में उन्हें इस कोटे का लाभ नहीं दिया जाएगा। राज्य नोडल पदाधिकारी ने बताया कि 157 अभ्यर्थी ऐसे हैं जो शिक्षक कोटे से आवेदन किए हैं, लेकिन एससीईआरटी द्वारा जारी प्रमाण पत्र आवेदन के साथ अटैच नहीं किए हैं। यदि वह प्रमाण पत्र जमा करने में असमर्थ होते हैं तो उन्हें काउंसलिंग से वंचित होना होगा।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश वेबसाइट पर अपलोड : राज्य नोडल पदाधिकारी ने बताया कि राज्य के सभी अल्पसंख्यक बीएड कॉलेजों में नामांकन बीएडसीईटी की काउंसलिंग के आधार पर होगा। यदि कोई कॉलेज अपने स्तर से काउंसलिंग कर नामांकन लेते हैं तो वह सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना करेंगे। उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट के फैसले की कॉपी वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। संत जेवियर कॉलेज ऑफ एजुकेशन और पटना वीमेंस कॉलेज ने काउंसलिंग के लिए अलग से शिड्यूल जारी किया था।

काउंसलिंग तिथिप्रथम शिफ्टद्वितीय शिफ्ट
17 अप्रैल500001-503663503665-507497
19 अप्रैल507500-511059511063-514789
20 अप्रैल514790-518360518361-522311
22 अप्रैल 522314-525808525824-529860
24 अप्रैल 529861-533438533440-536835
25 अप्रैल 536836-543033543034-547959
26 अप्रैल547960-552188552190-556714
27 अप्रैल556718-563046563048-569147
28 अप्रैल569148-574768574770-581268
30 अप्रैल581269-585453585454-589705

 

छात्र-छात्रएं इन कागजात के साथ पहुंचे

डॉ. एसपी सिन्हा ने बताया कि काउंसलिंग के दौरान अभ्यर्थियों को अपने साथ सीईटीबीएड-2019 का प्रवेश पत्र, अंक पत्र, एक पासपोर्ट साइज कलर फोटो, काउंसलिंग शुल्क की रसीद, मैटिक, इंटर व स्नातक का मूल अंक पत्र और मूल या औपबंधिक प्रमाणपत्र, आरक्षित श्रेणी के लाभ के लिए संबंधित जाति का प्रमाणपत्र, अद्यतन प्रमाण पत्र, अद्यतन आवासीय प्रमाण पत्र, सैनिक कर्मचारी कोटा के लाभ के लिए संबंधित का प्रमाण पत्र तथा दिव्यांग कोटे के लाभ के लिए दिव्यांगता प्रमाण पत्र की मूल व फोटो कॉपी लाना अनिवार्य है। इसके अभाव में काउंसलिंग से वंचित भी हो सकते हैं।

Link for Payment of Seat Acceptance Fees [Rs. 2000/-]

Click here to view Last date fees payment for counselling

Click here to view Rules of seat allotment

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.